17 जून से 19 जून तक बद्रीनाथ में बागेश्वर धाम सरकार की कथा

बागेश्वर धाम सरकार की कथा अभी बद्रीनाथ में होने बाली है और बद्रीनाथ की पावन धरा पर शंकराचार्य भगवान स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद जी जो अभी बद्रीनाथ ज्योतिष सिद्ध पीठ के प्रमुख की उपस्थि में यह कथा संपन्न होगी और बात करें तो इस बद्रीनाथ की पावन धरा पर देश और विदेश से महान पूज्य संत भगवान भी आने वाले है तो बागेश्वर धाम सरकार ने इस सभी कारणों को देखते हुए 17 जून से 19 जून तक बद्रीनाथ में दो दिन की कथा और दरबार भी लगाने का निर्णय लिया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
17 जून से 19 जून तक बद्रीनाथ में बागेश्वर धाम सरकार की कथा

बागेश्वर धाम

देश और दुनिया के कई देशों में जिसने अपनी ख्याती चंद समय काल फैला दी ही उस स्वयंभु बाला जी के बारे में जानने के आप भी इच्छुक होगे की यह बाला जी कहा है और इनका क्या नाम है तो आगे सम्पूर्ण जानकारी देने वाला हुँ तो ..

यह पावन तीर्थ मध्य प्रदेश के शिल्प जिला छतरपुर की छोटी-सी तहसील राजनगर के अंतर्गत ग्राम गढ़ा में स्थित विश्व प्रसिध्द तीर्थ बागेश्वर धाम जिनकी ख्याति देश-विदेश में सर चड़के फेल रही है। बागेश्वर धाम सरकार कहे जाने वाले परम् पूज्य धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के माध्यम से स्वंयभू हनुमान जी की दिव्य भूमि की ख्याति देश-विदेश  में हुई है, यहां बाला जी सरकार ने कलयुग में अपने होने का सबको आवास कराया है कि जिस प्रकार से भगवान राम ने कहां था की हे हनुमान तुम कलयुग में भी अपने भक्तों का कल्याण कर उनका उध्दार करोंगे ।

इस पावन धरा के बालाजी अर्जी के माध्यम से सभी भक्तों की समस्याओं का समाधान करते है और बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर परम् पूज्य धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी को अपने सभी भक्तों की समस्या सुनने का माध्यम बनाया ।

बद्रीनाथ कहाँ स्थित है-

महान तीर्थ बद्रीनाथ मन्दिर बर्फीले पहाड़ो की नगरी कहें जाने वाले राज्य उत्तराखण्ड के के चमोली जनपद में एक मनमोहक और रोचक द्रश्य से ओतप्रोत कलकलाती नदी अलकनन्दा के दाहिने तट पर स्थित है इस मंदिर की एक अलग ही महीमा है कहां जाता है कि यहां पर भगवान श्री विष्णु ने नारायण अवतार में सतयुग के समय जनकल्याण के लिए तपस्या कर जन कलह को दूर किया था तब से ही इस शालिग्राम पत्थर की महीमा दूर-दूर तक जाने लगी और नारायण भक्त यहाँ भगवान नारायण के दर्शन के लिए आने लगे।

क्या ट्रेन से हम बद्रीनाथ जा सकते है – जी हाँ जा सकते …

सबसे पहले आपको बता दूँ की बद्रीनाथ धाम का अपना स्टेशन नहीं है लेकिन आप कोटद्वार ,हरिद्वार और Rishikesh से जो सकते है परन्तु अधिकतर लोग हरिद्वार से जाना पसंद करते है इसका प्रमुख कारण यह है कि यहां ज्यादातर एक्सप्रेस ट्रेन चलती है इसलिए लोग हरिद्वार जाते और वहां से कोई बस या गाड़ी करते और बद्रीनाथ की यात्रा करने निकल पड़ते तो आप सोच रहे होगें कि हमको आप इतना विस्तार से बद्रीनाथ जाने का रास्ता क्यों बता रहे है तो इसका कारण है कि बद्रीनाथ में 17 जून से 19 तक बागेश्वर धाम सरकार की कथा एवं दरबार लगना है तो सभी भक्त गढ़ बद्रीनाथ जाकर अपनी अर्जी लगाये ।

बागेश्वर से जुड़ी जानकारी –

बागेश्वर धाम किसका मंदिरबालाजी सरकार|हनुमान जी मंदिर
स्थान कहां बागेश्वर धाम गढ़ा
राज्य मध्य प्रदेश ( जिला-छतरपुर)
तहसील राजनगर (ग्राम – गढ़ा )
बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री
महिमाअर्जी और पर्चा से दुःखों का निवारण
दर्शनसातों दिन
मुख्य दिनमंगलवार , शनिवार
अर्जी का सामानलाल कपड़ा , नारियल
उद्देश्यजनकल्याण
पेशी जब तक अर्जी ने लगे
दिव्य दरबार धाम और कथा के माध्यम से आपको पता चलेगा तो धाम आना जरूरी है ।

और पढ़े….

अगर आप भी दुःखों से परेशान है दवा करा-करा के घर बैठ गये है तो एक बार बाबा जी के दरबार आओ में और किसी की बात नहीं कर रहा बाबा बागेश्वर की बात कर रहा जो आपको बिना देखे ही आपकी सारी बात जान लेता है और देःख दर्द का मर्ज भी कर देतें है तो जानें ….

  • अगर आप भी दुःखों से परेशान है तो बागेश्वर धाम जाए और अर्जी लगाये ।
  • बालाजी सरकार के चरणों में समर्पित हो जाए ।
  • मंगलवार की पेशी करना चालू कर दें ।
  • एक ही गुरू बालाजी को बनाए ।
  • वहीं गुरू वहीं भगवान ।
  • अर्जी के दिन तक मंगलवार की पेशी करना छोडे़ ।

बागेश्वर जाने के बाद क्या नहीं खाना- पीनाः –

अगर आप भी बागेश्वर बालाजी के कृपा पात्र बनना चाहते है तो ये चीजे खाना -पीना छोड़ दो आज से ही कृपा होनी चालू हो जाएगी …..

  • प्याज
  • लहसुन
  • मांस
  • मदिरा

बागेश्वर धाम से जुड़े – प्रश्न (FAQ)

बागेश्वर धान से जुड़े भक्तों के महत्वपूर्ण प्रश्न जो सभी लोग जानने के इच्छुक रहते है तो देखें….

संबंधित सवाल / जवाब

Q. बागेश्वर धाम कैसे जाए ?

आप किसी भी देश या प्रदेश है आपको सबसे पहले मध्यप्रदेश आना है और इसके बाद छतरपुर आना है छतरपुर आने के बाद आपको कोई भी बागेश्वर धाम के लिए बस या कार देख लेना है ।

Q. बागेश्वर धाम वाले बाबा कितने सही हैं ?

जो भी बागेश्वर धाम आता तो उनके सही और गलत का दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता है कहने का मतलब यह है कि बागेश्वर धाम एक कलयुग में सनातन धर्म का ध्वज वनकर उभरा है जो सत्य और सनातन को विश्व भर में फैलाने की हौड़ लेकर आगे बड़ता चला जा रहा है।

Q. बागेश्वर धाम जाने के लिए क्या करना पड़ेगा ?

बागेश्वर धाम जाने के लिए आपको कुछ नहीं करना बस एक लाल कपड़ा और एक नारियल ले कर बागेश्वर के लिए रबाना होना है चाहे आप ट्रेन ,बस या कार से आए

Q. ट्रेन से बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे ?

आगर आप ट्रेन से बागेश्वर धाम आना चाहते है तो मंगलवार को कुरूक्षेत्र से आने वाली ट्रेन जिसका नाम गीता जंयती है उस आओगें तो बहुत सारे भक्त उस ट्रेन में मिल जायेगे या आप छतरपुर स्टेशन पर उतर कर बस से बागेश्वर धाम जा सकते है।

Q. बागेश्वर धाम कहाँ है यहां पर क्या है ?

बागेश्वर धाम मध्यप्रदेश के जिला छतरपुर के एक छोटे से गाँव गढ़ा में है और यहां पर बालाजी बागेश्वर धाम के नाम से प्रतिष्ठित है जो हनुमान जी का मंदिर है।

17 जून से 19 जून तक बद्रीनाथ में बागेश्वर धाम सरकार की कथा
https://ladlibahnayojana.net/बागेश्वर से जुड़ी जानकारी https://ladlibahnayojana.net/

Leave a Comment

Discover more from Ladli Bahna Yojana

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading